VPN क्या होता है? और इसके काम करने की प्रोसेसिंग 2022

0

VPN क्या होता है? और इसके काम करने की प्रोसेसिंग 2022

दोस्तों कभी ना कभी तो आपने VPN का नाम तो सुना ही होगा और आपके मन में यह सवाल भी उठता होगा। कि आखिरकार यह VPN क्या होता है? यदि आप लोग भी इसके बारे में जानकारी लेना चाहते हैं। तो आज आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं। दोस्तों शायद आपने यह देखा भी होगा कि जब कभी भी आप इंटरनेट पर किसी भी वेबसाइट को खोलते हो तो कभी-कभी वह ओपन नहीं होती है। क्या आपको पता है? इन जैसी वेबसाइट को गवर्नमेंट के द्वारा ब्लॉक कर दिया जाता है। तो इन वेबसाइट का इस्तेमाल करने के लिए मुख्य रूप से VPN का उपयोग करते हैं।

दोस्तों VPN एक ऐसा जरिया होता है जिसके द्वारा आप लोग किसी भी बेन एवं ब्लॉक हुई वेबसाइट को आसानी से एक्सेस कर पाओगे उदाहरण के तौर पर हम आपको बताएं चाइना के अंदर फेसबुक को बेन कर दिया गया है। अगर आप चाइना में रहकर फेसबुक का इस्तेमाल करोगे तो वीपीएन के द्वारा कर सकते हो दोस्तों चाइना में ही नहीं आप कहीं पर भी रहकर बेन हुए एप्लीकेशन का VPN का इस्तेमाल कर सकते हो अगर आप लोग भी VPN के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हो तो इस पोस्ट को शुरू से लेकर एंड तक ध्यान पूर्वक रूप से पढ़ते रहिए तो चलिए आज की पोस्ट शुरू करते हैं।

VPN क्या होता है ?

दोस्तों VPN एक वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क होता है। और इसका सबसे मुख्य काम इंटरनेट को चलाने वाले व्यक्तियों की असली पहचान एवं उनकी लोकेशन को हैकर से छुपाने एवं बचाने के लिए किया जाता है। दोस्तों यह एक प्रकार से प्राइवेट नेटवर्क होता है। जो दुनिया में कहीं भी किसी भी जगह पर नेटवर्क को एक्सेस करने में काफी मदद करता है। या फिर हम ऐसे भी कह सकते हैं। कि यह खराब एवं असुरक्षित नेटवर्क को एक सुरक्षित नेटवर्क में चेंज कर देता है। इसी के साथ यह उपयोगकर्ताओं के पर्सनल डाटा एवं नेटवर्क को सिक्योर रखने में भी काफी हेल्प करता है। जैसा कि आप जानते ही होंगे इंडिया के अंदर कई टेलीकॉम कंपनीज हैं।

और हम एवं आप लोग इन्हीं टेलीकॉम कंपनी जैसे कि जिओ, वी आई, एयरटेल एवं बीएसएनएल आदि के द्वारा इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसी वजह से जब आप लोग लैपटॉप कंप्यूटर या फ्रेशमार्ट फोन के अंदर किसी भी सिस्टम पर जब किसी टॉपिक को खोजते हो तो फिर हमारे द्वारा सर्च किया हुआ टॉपिक ISP( इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर) कंपनी कहने का मतलब है कि जिओ, वी आई, एयरटेल और बीएसएनल के पास पहुंचता है। और फिर यह कंपनी आपके द्वारा सर्च किए जाने वाले टॉपिक को गूगल के सर्वर में ट्रांसफर कर देती है।

उसके बाद हमारे द्वारा सर्च किए जाने वाले टॉपिक का रिजल्ट हमारे सामने खुलकर आता है। बिल्कुल उसी प्रकार जिस वेबसाइट को खोलने की अनुमति नहीं होती है। तो उसे एक्सिस करने पर ISP के द्वारा block कर दिया जाता है। दोस्तों अपने मूवी डाउनलोड करने वाले टॉरेंट वेबसाइट के बारे में तो सुन रखा होगा यहां से हर कोई व्यक्ति मूवी डाउनलोड नहीं कर पाएगा क्योंकि सरकार ने कॉपीराइट इश्यू के कारण ISP को बताकर टोरेंट वेबसाइट को ब्लॉक कर के रख दिया है।

इसी वजह से इस वेबसाइट के द्वारा मूवी डाउनलोड करना संभव नहीं होता है ।मगर उसके बाद भी आप लोग ब्लॉक की गई वेबसाइट एक्सिस करना चाहते हो यानी कि उसे खोलना चाहते हो या फिर टॉरेंट वेबसाइट के द्वारा में किसी भी मूवी को डाउनलोड करना चाहते हो तो इसके लिए आप लोग VPN Service का उपयोग कर सकते हो क्योंकि दोस्तों यह आपके IP address को हाइड करने में आपकी बहुत ज्यादा फायदा करता है।

VPN के काम करने की प्रोसेस क्या है?

दोस्तो जैसा कि आप पहले ही पढ़ चुके हैं। इंटरनेट पर जब हम किसी चीज को सर्च करती हैं। तो सबसे पहले ISP के पास में जाता है। और वह हमारी सभी प्रकार की डिटेल्स जैसे के मारी डिवाइस की लोकेशन एवं ऑनलाइन आईडेंटिटी की छानबीन करता है। फिर इसके बाद जिस चीज को हम सर्च कर रहे हैं। खुशी गूगल का सरवर या फिर उस वेबसाइट के सर्वर के साथ में कनेक्ट करता है। क्यों दोस्तों यह हमारा सारा काम ISP के माध्यम से होता है? इसी वजह से आपकी डाटा की पूरी प्राइवेसी समाप्त हो जाती है। और आपका नेटवर्क सिक्योर नहीं रहता है। जिस कारण से हैकर का खतरा बना रहता है। इन को छोड़कर आप उन वेबसाइट को भी नहीं खोल सकते हो।

जिन्हें सरकार के द्वारा ब्लॉक कर दिया गया है। अगर एक रूप से देखे तो आपको प्राइवेसी, फ्रीडम एवं सिक्योरिटी जैसी समस्याओं के आगे झुकना पड़ सकता है। अगर आप लोग VPN की सेवाओं को इस्तेमाल करोगे तू आप इंटरनेट पर उन सारी चीजों को खोज पाओगे जिन्हें सरकार द्वारा ब्लॉक कर दिया गया क्योंकि आपके द्वारा सर्च की हुई रिक्वेस्ट ISP की बजाए डायरेक्ट VPN server के पास में चली जाती है।और हम आपको यहां पर यह भी बता दो VPN सर्विस का उपयोग करने पर ISP को थोड़ी भी जानकारी प्राप्त नहीं होगी कि आप लोगों की एक्टिविटीज क्या है? आप कौन से तरीके से वेबसाइट को एक्सेस करते हो।

उदाहरण के तौर पर हम आपको एक चीज बता दें इंडिया के अंदर टिक टॉक एप को बैन कर दिया गया है। मगर ऐसे में आप लोग VPN का उपयोग करोगे तो आप लोग अपनी लोकेशन को इंडिया से बदल कर के उसे दूसरे लोकेशन से कनेक्ट कर सकते हो जिस जगह पर टिक टॉक का उपयोग किया जा रहा हो और दोस्तों टिक टॉक कंपनी को इस बात की रत्ती भर खबर भी नहीं पड़ती है। कि उनका एक उपयोगकर्ता भार.

दोस्तों मैं उम्मीद करता हूं कि आपको आज की यह पोस्ट काफी पसंद आई होगी और आप अच्छे से समझ गए होंगे कि बीपीएल क्या है और विपिन कैसे काम करता है विपिन की फुल फॉर्म क्या होती है यह सारी की सारी जानकारी आपको इस पोस्ट के माध्यम से विस्तार से बताइ है। Ud

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here